गाजियाबाद के एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने भ्रष्टाचार मामले का किया ख़ुलासा

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में पुलिस के अंदर भ्रष्टाचार का मामला सामने आया है। गाजियाबाद के एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने सख्त कार्रवाई करते हुए एक महिला एसएचओ लक्ष्मी सिंह चौहान और एक दरोगा सहित 5 सिपाहियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। दरअसल एटीएम से गबन मामले में पकड़े गए करीब एक करोड़ रुपए से करीब 80 लाख रुपए गायब होने का आरोप इन पुलिसकर्मियों पर लगा है। मामले में की गई जांच में एसएचओ लक्ष्मी सिंह चौहान सरकारी गाड़ी से प्राइवेट गाड़ी में बैग रखते हुए सीसीटीवी फुटेज में कैद हुई हैं। एसपी सिटी की जांच में लक्ष्मी सिंह चौहान पर लगे आरोप सही पाए गए हैं। जिन सिपाहियों को निलंबित किया गया है उनके नाम बच्चू सिंह, फराज, धीरज भारद्वाज सौरभ कुमार और सचिन कुमार बताए जा रहे हैं। इन सब के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। इन सभी पुलिसकर्मियों और सिपाहियों को कभी भी गिरफ्तार किया जा सकता है।

एसएसपी सुधीर कुमार के मुताबिक साहिबाबाद औद्योगिक क्षेत्र साइट- चार की सीएमएस कंपनी के कर्मचारी एटीएम में रुपये डालने के नाम पर करोड़ों रुपये लेकर निकले थे। कर्मचारियों ने सवा करोड़ रुपये का गबन कर लिया। मामले की जांच लिंक रोड थाना प्रभारी निरीक्षक लक्ष्मी सिंह चौहान कर रहीं थी। कंपनी अधिकारियों ने लिंक रोड थाने में मामले की रिपोर्ट दर्ज कराई।

फर्जी थी फोटोशूट वाली बात! राखी सावंत ने कर दिया है पति के नाम का खुलासा?

दो आरोपियों को किया गिरफ्तार 

दरअसल थाना लिंक रोड के एटीएम से सीएमएस के कर्मचारियों द्वारा गबन कराए जाने का ये मामला दर्ज किया गया है। इस केस में 24/25 सितंबर 2019 की रात लक्ष्मी चौहान ने अन्य पुलिसकर्मियों के साथ दो आरोपियों को गिरफ्तार किया। उन आरोपियों के नाम है राजीव सचान और आमिर।

ऐसे खुली भ्रष्टाचार की पोल

लिखित में आरोपित पुलिसकर्मियों ने दिखाया कि 45 लाख 81 हजार पांच सौ रुपये बरामद हुए हैं। जबकि साहिबाबाद के सीओ राकेश कुमार मिश्र ने गिरफ्तार अभियुक्तों से पूछताछ की तो पता चला कि राजीव सचान से करीब 55 लाख रुपये और आमिर से 60 से 70 लाख रुपये पकड़े गए थे।

पुलिस सूत्रों की मानें तो एसएचओ के पास से रुपये भी बरामद हुए हैं। एसएसपी का कहना है कि आरोपित पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। मामले की जांच जारी है। जांच के आधार पर आरोपित पुलिसकर्मियों के खिलाफ आगे की कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि लिंक रोड थाना प्रभारी लक्ष्मी सिंह चौहान नोएडा और ग्रेटर नोएडा में भी तैनात रह चुकी हैं।