चेक क्लोनिंग करके लखनऊ विश्वविद्यालय से उड़ाए 1 करोड़ रुपये

लखनऊ विश्वविद्यालय में भ्रष्टाचार का सबसे बड़ा मामला सामने आया है। लखनऊ विश्वविद्यालय के 1 करोड़ रुपए 6 बोगस फर्मो ने मिलकर के लूट लिए। विश्वविद्यालय में स्थित यूको बैंक से हुआ सबसे बड़ा फर्जीवाड़ा। बोगस फर्मो ने विश्वविद्यालय के अकाउंट से चेक क्लोनिंग करके 1 करोड़ रुपए उड़ा दिए। विश्वविद्यालय को चूना लगाने में यूको बैंक के अधिकारियों की भी मिलीभगत

कुलपति एसपी सिंह ने प्रेस वार्ता कर मामले की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि यूको बैंक में लखनऊ विश्वविद्यालय के 10 बड़े अकाउंट हैं। इनमें परीक्षा विभाग का खाता भी शामिल है। विश्वविद्यालय के लेखा संबंधी काम देख रहे सनदी लेखाकार मेसर्स हबीबुल्लाह ऐंड कंपनी वित्तीय वर्ष 2018-19 और 2019-20 (30 सितंबर तक) का बैंक समाधान विवरण तैयार कर रही थी। इसी बीच पता चला कि जालसाजों ने 11 चेकों के जरिए एलयू के परीक्षा निधि खाता संख्या-00600200000149 से 1,09,82,935 रुपये निकाल लिए।

अपराधियों के हौसले बुलंद, दिनदहाड़े यूको बैंक में 36 लाख की लूट

6 बोगस फर्मो ने पुरानी चेकों की क्लोनिंग करके 1 साल के अंदर 11 चेक से निकाल लिए एक करोड़ से ज्यादा रुपए। एलयू के कुलपति ने मुकदमा दर्ज कराया, गुनहगारों पर होगी सख्त कार्रवाई। जालसाजों के तार विश्वविद्यालय और बैंक दोनों में हो सकते हैं। जालसाज विश्वविद्यालय प्रशासन की नाक के नीचे से ले गए एक करोड़ रुपये पूरा प्रशाशन सोता रह गया। विश्वविद्यालय प्रशासन ने यूको बैंक के सारे खाते बंद कर दिए। अब एलयू का सारा शेष एसबीआई बैंक में ट्रांसफर हुआ। यूको बैंक का मैनेजर पत्रकारों को आता देख फरार हो गया।