अयोध्या: डॉ अमरनाथ मिश्रा ने इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन ट्रस्ट को बताया गैर संवैधानिक

Dr. Amarnath Mishra
Chairman, Dr. Amarnath Mishra

लखनऊ।अयोध्या सदभावना समिति के अध्यक्ष डॉ पंडित अमरनाथ मिश्रा ने सुन्नी वक्फ बोर्ड पर निशाना साधते हुए कहा कि इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन ट्रस्ट गैर संवैधानिक है। जबकि बोर्ड का कार्य सिर्फ मुतवल्ली नियुक्त करना होता है।

Bhoomi Pujan पर कोरोना संकट, पुजारी सहित 14 पुलिसकर्मी कोरोना पॉज़िटिव

डॉ अमरनाथ मिश्रा ने कहा कि मस्जिद के नाम पर अयोध्या को मक्का नही बनने देंगे।सुप्रीम कोर्ट द्वारा सुन्नी वक्फ बोर्ड को दी गई जमीन पर जो मस्जिद बने उसका नाम पर मस्जिदे इमामे हिन्द रखा जाए।क्योंकि मुस्लमान भी भगवान श्री राम को इमामे हिन्द मानते है और जिसका शिलान्यास भी प्रधानमंत्री जी करे।

वक्फ बोर्ड चेयरमैन ज़ुफर फारूकी ने जो इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन ट्रस्ट बनाया है, इनको यह ट्रस्ट बनाने का अधिकार किसने दिया। दरअसल ज़ुफर फारूकी इस ट्रस्ट के माध्यम से वहाबी (कट्टरपंथी) विचारधारा का प्रचार करना चाहते है। जिससे वहां के भोले भाले मुसलमानो को यह सिखाया जा सके कि कौन काफिर है और उनके साथ कैसा व्यवहार करना चाहिए, पर हम ऐसा नही होने देंगे।

सुन्नी वक्फ बोर्ड द्वारा बनाये गए ट्रस्ट में अधिकतर आज़म खान के लोग है। जो गौर करने वाली बात है कि बाबरी मस्जिद मामले के मुख्य पक्षकार श्री इकबाल अंसारी का इस ट्रस्ट में कही भी कोई नाम नही है।क्योंकि श्री इकबाल अंसारी शुरू से ही मंदिर के पक्ष में है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

77 − = 75