इस साल का तीसरा चंद्र ग्रहण कल, जाने क्या रहेगा प्रभाव

5 July 2020 lunar eclipse
image source - google

5 July 2020 lunar eclipse:- कल रविवार 5 जुलाई को साल का तीसरा चंद्र ग्रहण गुरु पूर्णिमा ( guru purnima) के दिन लगने जा रहा है। यह एक उपछाया ग्रहण है। जिसमें सूतक काल मान्य नहीं होता और कल का ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा। कल के चंद्र ग्रहण को अमेरिका, यूरोप, ऑस्ट्रेलिया में देखा जा सकता है।

कल गुरु पूर्णिमा के दिन चंद्र ग्रहण ( lunar eclipse) 8:38 से शुरू होकर 11:21 पर समाप्त होगा। यानी कल के ग्रहण की अवधि 2 घंटे 43 मिनट की होगी। उपछाया ग्रहण होने के कारण इसका सूतक काल मान्य नहीं होगा। बता दें उपछाया चंद्र ग्रहण में पृथ्वी की जरा सी छाया चंद्रमा के किनारों पर पड़ती है। जिसकी वजह से चंद्रमा के किनारे ढक जाते हैं। इसे वास्तविक ग्रहण नहीं माना जाता।

क्या होता है सूतक काल?

Sutak Kaal:- सूतक काल ग्रहण प्रारंभ होने से पहले लग जाता है। जिसके बाद कोई भी शुभ कार्य नहीं किया जाता। यहां तक कि पूजा-पाठ भी वर्जित होता है। सूतक काल चंद्र ग्रहण और सूर्य ग्रहण दोनों में लगता है हालांकि सूर्य ग्रहण में सूतक काल 12 घंटे का होता है। जबकि चंद्र ग्रहण में सूतक काल 9 घंटे का होता है।

ग्रहण में क्या न करें

1.ग्रहण को नग्न आंखों से नहीं देखना चाहिए
2.lunar eclipse के बाद बासी भोजन नहीं करना चाहिए
3.ग्रहण के दौरान भोजन नहीं करना चाहिए
4.ग्रहण लगने से पहले भोजन में तुलसी की पत्ती डालनी चाहिए
5.ग्रहण लगने के बाद पूजा पाठ और मूर्तियों को नहीं स्पर्श करना चाहिए
6.इस दौरान बाल और नाखून को नहीं काटना चाहिए
7.ग्रहण लगने के बाद चाकू, कांटा सूई आदि नुकीली चीजों का इस्तेमाल न करें
8.शुभ कार्य की शुरुआत नहीं करनी चाहिए
9.ग्रहण समाप्त होने के बाद स्नान करना चाहिए और दान करना चाहिए।

कल guru purnima के दिन पड़ने वाले चंद्र ग्रहण को भारत में नहीं देखा जा सकता। लेकिन यदि आप इस खगोलीय घटना को देखना चाहते हैं तो ऑनलाइन देख सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

63 − = 62